पत्रकार नहीं वसूली करने वाले हिस्ट्रीशीटर का गिरोह चलाता है इरफान...

*टेंपो चालक को बड़ा जान का खतरा...


*साथ पहले अपने ही पिता पर कर चुका है जानलेवा हमला...


*निरक्षर के पत्रकार होने का सवाल ही नहीं उठता...


*पत्रकार नहीं वसूली करने वाले हिस्ट्रीशीटर का गिरोह चलाता है इरफान...



कानपुर:- टेंपो संचालक संस्था के महामंत्री चांद खान से नवाबगंज थाना क्षेत्र में तथाकथित पत्रकार हिस्ट्रीशीटर  व उसके साथियों ने मारपीट कर हाथ तोड़ने का मामला निरंतर सुर्खियों में चल रहा है।
सूत्र बताते हैं कि तथाकथित पत्रकार आवास विकास कल्याणपुर निवासी मोहम्मद इरफान का दूर-दूर तक पत्रकारिता कोई लेना-देना होने का सवाल ही नहीं होता क्योंकि उसका शिक्षा से दूर दूर तक कोई लेना-देना ही नहीं है उसके पास से बरामद समाचार पत्र का कार्ड फर्जी है वह अपने हिस्ट्रीशीटर साथी के अपराध छिपाने व क्षेत्र में वर्चस्व बनाकर अवैध वसूली करता था।



छपेड़ा पुलिया निवासी उसका साथी मुन्नू करीया जो इस घटना में साथी गोवा गार्डन कल्याणपुर निवासी विनोद अग्निहोत्री उर्फ करिया पंडित के साथ वांछित है। मन्नू करिया के विषय में बताया जाता है। की साथ ही उसने तलवार से अपने पिता पर कातिलाना हमला किया था जिसमे वह जेल भी कल्याणपुर थाने से का चुका है। जिसमें अब इरफान के जेल जाने के बाद 2/37 ऐ नवाबगंज निवासी टेंपो संचालक को जान का खतरा बन गया है क्योंकि दोनों हिस्ट्रीशीटर अभी भी फरार हैं जो प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष तौर पर चांद खान के परिवार पर मुकदमा वापस लेने की निरंतर धमकी दे रहे हैं। घटनाक्रम के मुताबिक 11 सितंबर 2019 को चांद को फोन आया कि टेंपू संचालन के एवज में वह पत्रकार इरफान को ₹600 रोजाना  पहुंचाएंगे जिसमें दोनों में फोन पर बहस हुई दूसरे दिन इरफान ने मन्नू करिया पंडित के साथ चांद खान को घर जाते समय बुरी तरह पीटा था जिससे उनके हाथ में फ्रैक्चर हो गया जिसका मुकदमा पीड़ित ने नवाबगंज थाने में दर्ज कराया था।