लाखों की आबादी से अधिक आबादी वाले शहर 'कानपुर' में जनता कर्फ्यू का असर, मुख्य चौराहों पर पसरा सन्नाटा


*आशू यादव की कलम कानपुर से खास रिपोर्ट उत्तर प्रदेश ऑल इंडिया रिपोर्ट।*



*⏩(((लाखों की आबादी से अधिक आबादी वाले शहर 'कानपुर' में जनता कर्फ्यू का असर, मुख्य चौराहों पर पसरा सन्नाटा)))*            


*⏩कानपुर नगर* :- *60 लाख* *से ज्यादा आबादी वाले कानपुर में वैश्विक आपदा कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रधानमंत्री द्वारा जनता से की गई अपील का असर साफ देखने को मिल रहा है।*


*60 लाख से ज्यादा आबादी वाले कानपुर में वैश्विक आपदा *कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रधानमंत्री द्वारा जनता से की गई अपील का असर साफ *देखने को मिल रहा है। जनता कर्फ्यू का असर कुछ इस कदर है कि रेलवे स्टेशन, बस अड्डे से लेकर भीड़ वाले सभी चौराहों पर *सन्नाटा देखने को मिल रहा है। सड़कों पर पुलिस लगातार इस कर्फ्यू का लोगों से समर्थन करने की अपील भी कर रही है।*
*देश मे जब भी कोई आपदा आती है देश के लोग उससे लड़ने की भरपूर कोशिश करते हैं। ऐसी ही एक आपदा कोरोना वायरस जिसकी शुरुआत चीन से हुई और इस वक्त विश्व मे लगभग सभी देशों में फैल चुकी है। देश के प्रधानमंत्री द्वारा इस वायरस से लड़ने के किये जा रहे अथक प्रयासों से हालाकिं की अभी यह देश मे ज्यादा नही फैल पाया है। इससे बचाव और रोकथाम के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा हर सम्भव कदम भी उठाए जा रहे हैं।*


*बीते दिनों देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता से अपील की थी कि रविवार को सभी लोग अपने घरों में रहकर जनता कर्फ्यू में शामिल हों। यह कर्फ्यू किसी की आजादी को को छीनना नही है बल्कि एक जंग है जिसमें जीत हासिल करना है। रविवार सुबह से इस अपील का पालन करते लोग दिख रहे हैं। 60 लाख से भी ज्यादा आबादी वाले इस शहर के भीड़ भाड़ वाले जगहों पर महज कुछ ही लोग देखने को मिल रहे हैं।*


*सबसे व्यस्त स्टेशनो में अपनी जगह बनाने वाले कानपुर सेंट्रल पर भी इक्का दुक्का लोग देखने को मिल रहे हैं। कानपुर शहर के सबसे व्यस्त चौराहों में आने वाले बड़ा चौराहा, परेड चौराह, नरोना चौराहा, कल्यानपुर क्रोसिंग, विजय नगर चौराहा, फूलबाग, रामादेवी, नौबस्ता चौराहा समेत सभी चौराहों पर कुछ ही जरूरत मंद लोग देखने को मिल रहे हैं। शहर से जुड़े अगर ग्रामीण इलाकों की बात की जाए तो चौबेपुर मंडी, बिल्हौर, घाटमपुर में भी लोगों का जमावड़ा नही हो रहा है।*


*कल्यानपुर में रहने वाले राजीव कुमार ने बताया कि उन्होंने इस कर्फ्यू में शामिल होने की उसी दिन थाम लिया जिस दिन देश के प्रधानमंत्री ने जनता से अपील की थी। इसी तरह घाटमपुर में रहने वाले ओम मिश्रा ने बताया कि जरूरत का सामान वो कल ही ले आये थे यह कर्फ्यू हमारी सुरक्षा को लेकर है और हम सबको इसमे शामिल होना चाहिए।*
🔜➖🔜➖🔜➖🔜➖
*आशू यादव की कलम कानपुर से खास रिपोर्ट उत्तर प्रदेश ऑल इंडिया रिपोर्ट।*


Featured Post

क्या डीडीए 1991 में संसद के बनाए हुए 'वर्शिप एक्ट' को नहीं मानता है? 'मस्जिद टूटने की चीखें नहीं सुनाई देती : इमरान प्रतापगढ़ी

नई दिल्ली दिल्ली के महरौली इलाके में एक मस्जिद पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने बीती 30 जनवरी को गैरकानूनी ढांचा बताते हुए बुलडोजर चला द...