कोरोना : नोएडा से सटे हापुड़ को कैसे संभाला आईएएस अफसर अदिति सिंह ने

➖➖➖➖➖➖➖
*आशू यादव की खास रिपोर्ट SUB Bureau Chief Kanpur*
➖➖➖➖➖➖➖➖
     *भ्रष्टाचार और जुर्म के खिलाफ हर पल आपके साथ*
➖➖➖➖➖➖➖➖


*कोरोना : नोएडा से सटे हापुड़ को कैसे संभाला आईएएस अफसर अदिति सिंह ने।



*यूपी के हॉटस्पॉट जिलों नोएडा* *(Noida) और मेरठ *Meerut) से सटे होने के बावजूद हापुड़ जिले में कोरोना के मामलों के नियंत्रित किया गया है. जानिए जिले की डीएम अदिति सिंह (Aditi Singh) ने ये सबकुछ कैसे किया*


*उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना रोगियों (Covid19 Patients) की संख्या बढ़ाने में शुरुआत में नोएडा जिले का बड़ा रोल था. इस जिले में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी के साथ बढ़ी थी. सिर्फ नोएडा ही क्यों पश्चिम यूपी के कई जिलों में कोरोना पूर्वी यूपी के मुकाबले ज्यादा देखा गया है. लेकिन पश्चिमी यूपी के ही एक जिले हापुड़ में कोरोना के रोगियों की संख्या पर एकदम से नियंत्रण लगा है. वर्तमान में यहां पर कोरोना के 16 मरीज हैं. नोएडा और मेरठ जैसे हॉटस्पॉट जिलों से जुड़ा होने के बावजूद भी हापुड़ में कोरोना के प्रसार पर रोक लगी है.*



*जिले की डीएम अदिति सिंह को इस रोकथाम के पीछे बड़ी वजह माना जा रहा है. द हिंदू में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक जिले में अभी कोरोना के 16 मरीज, 8 हॉटस्पॉट हैं. मरीजों का इलाज चल रहा है और हॉटस्पॉट्स पर खाना, दवाएं सहित अन्य जरूरी चीजें दरवाजे तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई है.*


*अदिति सिंह के मुताबिक मार्च के दूसरे सप्ताह में जिला प्रशासन को ऐसे लोगों के बारे में जानकारी दी गई जिनकी फॉरेन ट्रैवेल की हिस्ट्री थी. पिछले पांच हफ्तों के दौरान 150 लोगों को ट्रैक किया गया. उनका मेडिकल टीम द्वारा परीक्षण कराकर 14 दिनों तक होम क्वारंटीन में रखा गया*