मोटर अधिनियम संशोधन पर विरोध

*प्रदर्शन कर लोगों ने किया मोटर अधिनियम संशोधन में भारी जुर्माने का विरोध*


*अशर्फी पाठक,,✍🏻*


बहराइच
फखरपुर ब्लाॅक के गजाधरपुर चैराहे पर लोगों ने केंद्र सरकार के नए लागू किए गए नया मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन कर नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने की राशि में भारी बढोत्तरी का विरोध जताया। लोगों ने नए प्रावधानों की समीक्षा किए जाने की मांग की है।
बताते चलें के केंद्र सरकार ने मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन कर एक सितंबर से भारी जुर्माने के प्रावधान लागू कर दिए हैं। इसमें सीट बेल्ट न पहनने, हेलमेट डीएल न होने व अन्य उल्लंघनों पर तीन गुना से लेकर 20 गुना तक की भारी बढोत्तरी की  गई है। इसके बाद से ही लोगों में सख्त प्रावधानों पर प्रतिक्रयाओं का दौर शुरू हो गया है। पश्चिम बंगाल व मध्यप्रदेश की सरकार ने भारी जुर्माने के प्रावधानों को फिलहाल लागू करने से मना कर दिया है। सख्त प्रावधानों पर लोगों ने एकजुट होकर इसे आमजन विरोधी कानून बताया। राहुल वर्मा ने कहा कि अधिनियम में लागू किया जुर्माना आमजन की पहुंच से बाहर है। एकाएक कई गुना की गई आमजनता के लिए उत्पीड़न का सबब बनेगी। वेद प्रकाश पाठक ने कहा कि हम संशोधन के विरोध में नहीं हैं लेकिन जुर्माना राशि तर्कसंगत नहीं है। लेकिन नियमों के फेर में फंसकर औसत आय वाले लोगों की कमर टूट जाएगी। राहुल गौड़ ने कहा कि नए प्रावधानों की सबसे ज्यादा मार आमजन को झेलनी होगी। बिना सुविधाएं दुरूस्त किए नए नियम थोपना काला कानून है। जल्द ही मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर इस पर पुनर्विचार की मांग की जाएगी। इस मौके पर प्रदीप गौड,विजय सिंह, अनूप गुप्ता, सुनील, प्रेमनरायन, बब्बू पाठक, संतोष वर्मा समेत अन्य लोग मौजूद रहे।