बच्चे की लालच ने बनाया अपहरणकर्ता...

बच्चे की लालच ने बनाया अपहरणकर्ता।


दिल्ली के साउथ दिल्ली डिस्ट्रिक्ट में एक ऐसी वारदात सामने आई है जिसमें बच्चे को पाने की लालच में एक महिला और उसके जानकार को अपहरणकर्ता बना दिया है।
आरोप है बच्चे का अपहरण करने का, साकेत कोर्ट में पहले दोनों महिलाओं के बीच हुई जमकर लड़ाई, फिर अपहरण के आरोप में पुलिस ने किया एक रूबी नाम की महिला सहित एक शाहा मुहम्मद नाम के पुरुष को गिरफ्तार।
मीनाक्षी नाम की एक महिला ने रूबी खातून पर लगाया बच्चा अपहरण करने का आरोप, दोनों पहले दोस्त थी रूबी खातून की कोई संतान नहीं थी जिसके बारे में रूबी ने मीनाक्षी को बताया की शादी के बाद से ही रूबी के कोई संतान नहीं है जिसके चलते वह बहुत परेशान हैं, और मीनाक्षी के जब बच्चा होगा तो वह साथ मिलकर उस बच्चे को पालेंगी।
रूबी मीनाक्षी की देखभाल करने लगी, मीनाक्षी का कहना है की रूबी की मंशा का उन्हें आभास नहीं था। 



मीनाक्षी ने 17,/09/2019 एक लड़के को जन्म दिया जिसके बाद रूबी और पति ने मीनाक्षी को मना लिया कि मीनाक्षी आपने बच्चा उन्हें दे दे और यह आश्वासन दिया कि वह उस बच्चे का पूरा ध्यान रखेंगे और जब भी मीनाक्षी को बच्चे से मिलना होगा यह बच्चा वापस चाहिए होगा वह कर देगी, इस डील को दस्तावेज में भी अंकित किया गया है।
बच्चा होने के कुछ समय बाद जब मनीषा ने रूबी से संपर्क करना चाहा तो रूबी का नंबर कवरेज क्षेत्र से बाहर बताया रवि को मैसेज वॉइस मैसेज आदि भेजे गए पर रूबी की तरफ से कोई जवाब नहीं आया जिसके बाद मनीषा ने पता लगाया रूबी अपने पति के साथ साकेत कोर्ट में आ रही है। जिसके बाद मनीषा और रूबी की लड़ाई हुई पुलिस ने रूबी के घर छानबीन करी तो वहां से कोई बच्चा नहीं पाया पूछताछ के बाद रूबी ने बताया कि बच्चा उसके जाने वाले के पास है जिसके बाद बच्चा मीनाक्षी को सौंप दिया गया, और रूबी और उसके मिलने वाले शाह मोहम्मद पर मुकदमा दर्ज कर हिरासत में ले लिया है



Featured Post

क्या डीडीए 1991 में संसद के बनाए हुए 'वर्शिप एक्ट' को नहीं मानता है? 'मस्जिद टूटने की चीखें नहीं सुनाई देती : इमरान प्रतापगढ़ी

नई दिल्ली दिल्ली के महरौली इलाके में एक मस्जिद पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने बीती 30 जनवरी को गैरकानूनी ढांचा बताते हुए बुलडोजर चला द...