कोरोना: अस्पताल को सताया कनिका कपूर के भागने का डर, लगाए एक्स्ट्रा गार्ड*

*आशू यादों की कलम कानपुर से खास रिपोर्ट उत्तर प्रदेश ऑल इंडिया रिपोर्ट।*
➖➖➖➖➖➖➖➖
   *कोरोना: अस्पताल को सताया कनिका कपूर के भागने का डर, लगाए एक्स्ट्रा गार्ड*
    *बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर के कोरोना पॉजिटिव होने की बात जबसे सामने आई है, उन्हें बहुत कुछ झेलना पड़ रहा है. देशभर में इस बात की चर्चा हो रही है तो वहीं लोग उन्हें भला बुरा भी बता रहे हैं. ऐसे में कनिका कपूर को अस्पताल में रखा गया है, जहां उनका इलाज किया जा रहा है.*



*कहीं भाग ना जाए कनिका*


*कनिका का इलाज लखनऊ स्थित संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (SGPGI) में हो रहा है. अस्पताल के डायरेक्टर आर के धीमन के मुताबिक उन्हें सभी सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं, लेकिन कनिका सभी को नखरे दिखाने से बाज नहीं आ रहीं.*


*अब डायरेक्टर धीमन ने टाइम्स नाउ को बताया है कि कनिका को बेस्ट कमरा देने के बाद भी वे अस्पताल का सहयोग नहीं दिखा रही हैं. यहां तक कि उनके नखरे खत्म ही नहीं हो रहे हैं. ऐसे में अस्पताल को डर है कि कहीं कनिका भाग ना जाएं और अन्य लोगों में अपना वायरस ना फैला दें, इसलिए उनके लिए एक एक्स्ट्रा गार्ड को तैनात किया गया है.*


*मिल रही बढ़िया सुविधाएं और डाइट*


*बता दें कि इससे पहले डायरेक्टर आर के धीमन ने बताया था कि कनिका को अस्पताल में कैसी सुविधाएं और डाइट दी जा रही है. उन्होंने कहा, 'कनिका कपूर को एक अस्पताल के मुताबिक जितनी भी सुविधाएं दी जा सकती हैं, हम दे रहे हैं. उन्हें एक मरीज के तौर पर हमारा साथ देने की जरूरत है, ना कि एक स्टार की तरह नखरे दिखाने की. हम उन्हें अस्पताल के किचेन से ग्लूटेन फ्री डाइट दे रहे हैं. उन्हें हमारा साथ देना होगा तभी वे ठीक होंगी*
       *उन्हें जो सुविधाएं दी गई हैं वो हैं एक आइसोलेटेड कमरा, जिसमें एक टॉयलेट है, मरीज का बेड है और एक टेलीविजन है. उनके कमरे में एसी की हवा दी गई है, जिसका Air Handling Unit (AHU) दूसरे कोरोना वायरस यूनिट से अलग है. उनका पूरा ध्यान रखा जा रहा है. लेकिन उन्हें सबसे पहले एक मरीज की तरह व्यवहार करना शुरू करना होगा.*
*कनिका ने बताई थी आपबीती*


*कनिका ने शुक्रवार को आजतक से बातचीत में अपने हाल बताए थे. उन्होंने कहा था- मुझे इस समय बुखार है. मैं अस्पताल में हूं, अकेली हूं. यहां खाने-पीने को कुछ नहीं है, पानी नहीं है. मैं परेशान हूं. मुझे नहीं पता मेरी कैसी जांच होगी. डॉक्टर्स ने मुझे धमकाया है. उन्होंने कहा कि तुमने बहुत बड़ी गलती की है. तुम बिना जांच कराए भागी हो. मुझे नहीं पता ये बातें कहां से आ रही हैं. अस्पताल में मेरी हेल्प नहीं मुझे धमकाया जा रहा है. मैं क्वारनटीन में हूं. मरीज को धमकाना तो नहीं चाहिए.'*
  *बता दें कि कनिका कपूर, 9 मार्च को लंदन से वापस लौटी हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक वहां से आने के बाद वे एयरपोर्ट पर बिना चेकअप करवाए लोगों को झांसा देकर निकल आई थीं. इसके बाद उन्होंने लखनऊ जाकर अपने घरवालों से मुलाकात की और कई पार्टियों में भी शामिल हुईं. उनके कोरोना पॉजिटिव होने और इस बात के निकलने के बाद से हर तरफ हडकंप मचा हुआ है.*