लॉक डाउन के चलते दिल्ली पुलिस है मुस्तैद, पुलिस कैंटीन से कराया जा रहा है खाना मुहैया


देश में लोग डाउन की घोषणा के बाद पुलिस मुकम्मल कोशिश कर रही है कि लोग डाउन का जनता पालन करें और कोई भी कानून का उल्लंघन ना करें।



इस सबके चलते राजधानी दिल्ली की पुलिस काफी मुस्तैद नजर आई। दिल्ली के अलग-अलग जिलों के अंदर क्षेत्र डीसीपी ने अपने अपने क्षेत्र की कमान बखूबी संभाली है। 


राजधानी दिल्ली में लॉक डाउन के बाद दिल्ली पुलिस के आला अधिकारी भी दिल्ली की सड़कों पर नजर आए। घनी आबादी वाले क्षेत्रों में भी दिल्ली पुलिस के जवान लोगों से अपील करते नजर आए वालों लोगों की सहायता करते भी देखा गया।



दिल्ली शाहदरा जिले के डीसीपी दिनेश कुमार गुप्ता द्वारा बताया गया की शाहदरा जिले में कितनी मुस्तैदी के साथ पुलिस कर रही है अपना काम। शाहदरा जिले के अंतर्गत जो भी दिल्ली बॉर्डर के क्षेत्र है उन जगहों पर कड़ी मुस्तैदी के साथ दिल्ली पुलिस के जवान अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। किसी भी गाड़ी को बिना चेकिंग किए नहीं आने जाने दिया जा रहा है खासा एसेंशियल सर्विसेज वाली गाड़ियों को कोई दिक्कत परेशानी ना हो इसका भी काफी ध्यान रखा जा रहा है।



साथ ही जिले के अंदर के इलाकों में भी पुलिस पेट्रोलिंग के द्वारा लोग लव डॉन का पालन करें व सोशल डिस्टेंसिंग के द्वारा एसेंशियल सामग्रियों को लेने बाहर जाएं। ‌ शाहदरा पुलिस द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि जो भी किराना दुकाने व सब्जियों की दुकानें हैं उनको ज्यादा से ज्यादा देर तक खोला जाए। जिसके चलते सोशल डिस्टेंसिंग के अंतर्गत लोग कम से कम बाहर आकर अपनी जरूरतों का सामान ले सकें।



शाहदरा डीसीपी दिनेश कुमार गुप्ता ने बताया कि शाहदरा जिले के अंदर 47 पिकेट लगाई गई है जिसके चलते गाड़ियों की आवाजाही पर कड़ी नजर रखी जा सके व लॉक डाउन का पालन करवाया जा सके। डीसीपी शाहदरा ने बताया की शाहदरा जिले के अंतर्गत कृष्णा नगर थाने में पुलिस ने अपनी कैंटीन से ही जरूरतमंदों के लिए खाना मुहैया कराना शुरू कर दिया है। साथ ही जो भी पुलिस को जानकारी मिलती है स्थाई एनजीओ के द्वारा भी पुलिस लोगों को खाना मुहैया करा रही है। 


साथ ही डीसीपी शाहदरा ने बताया कि ऑफिस और थानों में भी सैनिटाइजर मास्क व थर्मामीटर इत्यादि की व्यवस्था की गई है जिससे पुलिसकर्मी भी सावधानी से अपनी रोकथाम कर सके। और दूसरों को भी जागरूक कर सके।