पुलिस को कोरोना सेफ्टी किट मोहिया क्यों नहीं?

उत्तर प्रदेश कानपुर:-


कोरोनावायरस के प्रकोप के चलते समस्त देश जूझ रहा है इसी महामारी से बचाने के लिए डॉक्टर, पुलिसकर्मी व सफाई कर्मचारी बहू भी काम करते नजर आ रहे हैं।



हर राज्य के अलग-अलग क्षेत्रों में पुलिस बल बहुत मुस्तैदी के साथ तैनात नजर आता है। परंतु इन करो ना योद्धाओं के लिए क्या कुछ इंतजाम करें हैं प्रशासन में यह एक बहुत बड़ा सवाल खड़ा करता है।



कुछ तस्वीरें हम आपको दिखाएंगे उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर की जहां पर शुक्लागंज गंगा घाट पर लॉग डाउन का पालन कराने के लिए पुलिस कितनी मुस्तैदी से अपना कार्य कर रही है। साथ ही आपको यह भी बता दें कि यह क्षेत्र हॉटस्पॉट में तब्दील किया गया है।


सड़क पर वेरी गेटिंग लगाकर आती-जाती गाड़ियों को रोका जाता है वह सुनिश्चित किया जाता है कोई भी बेना पास या अनुमति के कोई भी व्यक्ति इधर-उधर घूम तो नहीं रहा। ‌ जहां दिन और रात पुलिस अपना कार्य बड़ी मुस्तैदी से निभा रही है वहीं ऐसे कोरोना योद्धाओं के लिए कोरोना से बचने हेतु किसी भी तरह का कोई सेफ्टी किट प्रशासन द्वारा नहीं दी गई है। जिसके चलते यह भी देखा गया है कि कई पुलिसकर्मी भी करो ना वायरस की चपेट में आ चुके हैं।


मौजूदा पुलिसकर्मियों में चौकी इंचार्ज राजा रामपाल ने जानकारी प्रदान की थाना छावनी कैंट प्रशासन चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद है। ‌एंटी करप्शन इंडिया के संवाददाता ने पुलिस कर्मियों से बातचीत करी जिस पर पुलिसकर्मियों ने कहा कि हमें भी कोरोनावायरस सेफ्टी किट सरकार को मुहैया करानी चाहिए।