लॉक डाउन में शराब की दुकान खोलने के बाद क्या है हाल? क्या है यह सरकार का सही फैसला?

दिल्ली:-


समस्त देश कोविड-19 की महामारी झेल रहा है। जिसके चलते समस्त देश में लॉक डाउन है। लॉक डाउन के चलते देश की राजधानी दिल्ली में आज 150 शराब के ठेके खोले गए हैं। जिसके बाद राजधानी के अंदर शराब खरीदने आए लोगों के हुजूम से सोशल डिस्टेंशन की नई तस्वीरें सामने आई है।



राजधानी दिल्ली में दिल्ली सरकार द्वारा यह निर्णय कई विशेषज्ञों ने गलत बताया है। जहां देश में दिन-प्रतिदिन कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं वहीं दिल्ली भी देश में तीसरे स्थान पर डाटा हुआ है। बावजूद इसके दिल्ली के मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की थी कि एसेंशियल सर्विसेज के लिए 100% लॉक डाउन समाप्त कर दिया गया है। 



जिसका असर राजधानी दिल्ली के 150 उन शराब की दुकानों पर भी देखने को मिला। लाखों की तादाद में दिल्ली भर में शराब लेने लोग उमड़े और इन तस्वीरों में साफ दिखाई दे रहा है कई जगहों पर भीड़ को नियंत्रण करने के लिए पुलिस को डंडा भी दिखाना पड़ा और लोगों को खदेड़ना भी पड़ा। बावजूद इसके लाखों लोगों ने शराब खरीदी। ‌ तस्वीरें देखने के बाद कई लोगों का यह कहना है की यह निर्णय दिल्लीवासियों के लिए बहुत भयानक हो सकता है। 


आने वाले समय में ऐसे खुलेआम लॉक डाउन को ताक पर रखकर लाखों लोगों का हुजूम इकट्ठा होना कोरोनावायरस को बढ़ाने का अहम रोल निभा सकता है।


लॉकडाउन के बाद राज्य सरकार ने जरूरतमंद लोगों के खाने की व्यवस्था अलग-अलग सरकारी स्कूलों में की थी जिसके लिए सैकड़ों की तादाद में लोग लाइन लगाते हैं। ‌ परंतु आज शराब की दुकानों के बाहर लाइन देखकर यह प्रतीत हो रहा है कि दिल्ली में रह रहे लोगों को खाने से ज्यादा शराब की आवश्यकता है। जिसका नजारा आप इन तस्वीरों और वीडियो में देखेंगे।