मोदी और ट्रम्प की दोस्ती इतनी गहरी है कि वो दवाइयाँ भी ‘धमकी’ देकर मांगता है : तेज प्रताप यादव

मोदी और ट्रम्प की दोस्ती इतनी गहरी है कि वो दवाइयाँ भी ‘धमकी’ देकर मांगता है : तेज प्रताप यादव



07/04/2020  M RIZWAN 



अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत सरकार को धमकी देते हुए कहा कि अगर भारत सरकार कोरोना से लड़ने वाली दवा अमेरिका को निर्यात नहीं करती, तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।


अमेरिका की इस धमकी के बाद भारत सरकार दवा को निर्यात करने के लिए तैयार हो गई है। सरकार के इस कदम की आलोचना हो रही है। अब राजद नेता और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा- मोदी जी और ट्रम्प की दोस्ती इतनी गहरी है कि ट्रम्प दवाइयाँ भी मांगता है तो धमकी देकर… भक्त अलग परेशान है कि ऐसी कौन सी कमी रह गई थी स्वागत में।।


वहीं कांग्रेस नेता रोहन गुप्ता ने तंज कसते हुए लिखा- मोदीजी यह कैसा एक तरफ़ा प्यार है ! ट्रंप अपनी रैली में हमारे करोडों रूपये खर्च करवा कर हमारी ही सरकार को धमकी दे रहे हैं और मोदीजी चुप हैं ! उम्मीद है प्रधानमंत्री जी अपने कथित मित्र को जवाब जरूर देंगे !


ग़ौरतलब है कि कोरोना से लड़ने में मलेरिया की दवाई हाइड्रोऑक्सिक्लोरोक्विन काफ़ी कारगर साबित हो रही है। भारत इस दावा को बड़ा निर्यातक है। ऐसे में इस दावा की सप्लाई के लिए अमेरिका ने पिछले महीने भारत से बात की थी। लेकिन भारत में भी कोरोना का प्रकोप बढ़ने पर सरकार ने इसके निर्यात पर रोक लगा दी थी।


भारत के इस फैसले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने धमकीभरे अंदाज़ में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने प्रधानमंत्री मोदी से रविवार सुबह इस मुद्दे पर बात की थी।


अगर वे दवा की आपूर्ति की अनुमति देंगे तो हम उनके इस कदम की सराहना करेंगे। अगर वे सहयोग नहीं भी करते हैं तो कोई बात नहीं, लेकिन उन्हें इसका अंजाम भुगतना होगा।