पीएम मोदी रात 8:00 बजे राष्ट्र को करेंगे* संबोधित*

*आशू यादव की खास रिपोर्ट SUB Bureau Chief Kanpur*


       *LIVE PM *Narendra Modi Address*  
*Nation:    पीएम मोदी रात 8:00 बजे राष्ट्र को करेंगे* संबोधित*
      
           *लकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  आज रात आठ बजे  राष्ट्र को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री कार्यालय ने यह जानकारी दी है इससे एक दिन* *पहले सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोनावायरस और लकडाउन     के मसले पर चर्चा की थी पीएम मोदी ने कहा था कि भले ही हम लॉगडाउन को कर्मबंद  ढंग से हटाने पर गौर कर रहे हैं लेकिन हमें यह भी याद रखना चाहिए कि जब तक हम वायरस पर कर अगर कोई वैक्सीन या उपाय नहीं ढूंढ लेते हैं तब तक वायरस से लड़ने के लिए हमारे पास सबसे बड़ा हथियार सामाजिक दूरी ही है प्रधानमंत्री के संबोधन से जुड़े हर अपडेट के लिए जुड़े रहे*



 *पांचवीं बार संबोधन*


*प्रधानमंत्री का राष्‍ट्र के नाम यह पांचवां संबोधन होगा। इससे पहले पीएम मोदी ने अपने सभी संबोधनों में देशवासियों से सहयोग की अपील की है। साथ ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई को और धारदार बनाने का आह्वान किया है। आइये संक्षेप में जानते हैं कि पीएम मोदी ने इससे पहले के संबोधनों में क्‍या बातें कही हैं।*


*पहले संबोधन में जनता कर्फ्यू की बात*


*प्रधानमंत्री ने पहली बार 19 मार्च 2020 की रात 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया था जिसमें उन्होंने सावधानियों का पालन करते हुए 22 मार्च (रविवार) को जनता कर्फ्यू की अपील की थी।*


*दूसरे संबोधन में लॉकडाउन का एलान*


*जनता कर्फ्यू की सपलता के बाद पीएम मोदी ने दूसरी बार 24 मार्च की रात 8 बजे देश को संबोधित करते हुए पूरे देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की थी।*


*तीसरे संबोधन में दीप जलाने की अपील*


*तीन अप्रैल को पीएम मोदी ने लोगों से अपील की थी कि वे पांच अप्रैल की रात नौ बजे कोरोना वॉरियर्स के लिए 9 मिनट का वक्त निकालें और घरों की बत्तियां बंद कर दीप, मोमबत्ती, टार्च, मोबाइल की फ्लैश लाइटें रोशन करें।*


*चौथे संबोधन में लॉकडाउन-2 का एलान*


*प्रधानमंत्री ने चौथी बार 14 अप्रैल को देशवासियों को संबोधित करते हुए तीन मई तक के लिए पूरे देश में लॉकडाउन-2 लगाए जाने की घोषणा की थी।*


*दिखेगी भविष्‍य की तस्‍वीर*


*प्रधानमंत्री का राष्‍ट्र के नाम यह पांचवां संबोधन होगा। प्रधानमंत्री ने ‘दो गज की दूरी’ के महत्व पर जोर देते हुए कहा था कि कई मुख्यमंत्रियों द्वारा रात में कर्फ्यू लगाने के लिए दिए गए सुझाव को मानने से निश्चित रूप से लोगों में सतर्कता की भावना फिर से पैदा होगी। ऐसे समय जब लॉकडाउन-3 खत्म होने में अब पांच दिन का समय ही बचा है... पीएम मोदी का यह संबोधन भविष्‍य की तस्‍वीर दिखाएगा। कोरोना से निपटने के लिए देश को लॉकडाउन-4* *(Lockdown-4) की जरूरत है या नहीं और यदि है तो उसकी रूपरेखा और तस्‍वीर कैसी होगी... इस बारे में भी प्रधानमंत्री इशारा करेंगे।*


*अर्थव्‍यवस्‍था को गति देने की चुनौती*


*प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिये बातचीत करके भावी कदमों को लेकर चर्चा की थी। प्रधानमंत्री ने कहा था कि हमें यह* *समझना होगा कि अब कोरोना से लड़ाई पहले ज्यादा केंद्रित होगी। आगे हमें इसके फैलाव को रोकना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि लोग सभी ऐहतियाती कदमों का पालन करें। इस बातचीत में पीएम मोदी ने स्‍पष्‍ट संकेत दिया था कि अगले चरण में राहत तो दी जाएगी लेकिन लॉकडाउन एकदम से नहीं हटाया जाएगा। उन्‍होंने कहा था कि हमारे सामने बीमारी को रोकने के साथ साथ अर्थव्‍यवस्‍था को गति देने की गहरी चुनौती है।*


*जन से लेकर जग तक की नीति पर चलने के संकेत*


*पीएम मोदी के साथ बातचीत में ज्‍यादातर राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री भी लॉकडाउन में एकमुश्‍त ढील देने के पक्ष में नहीं दिखे। वहीं प्रधानमंत्री ने कहा कि जन से लेकर जग तक की नीति पर आगे बढ़ना होगा। सूत्रों का कहना है कि लॉकडाउन के अगले दौर में ऑरेंज और रेड जोन में भी थोड़ी ढील दी जा सकती है। हालांकि आवागमन, मनोरंजन और शिक्षा जैसे क्षेत्रों में काम शुरू होने के लिए अभी इंतजार करना होगा। यही नहीं गांवों को संक्रमण से बचाने की भी एक बड़ी चुनौती होगी। ऐसे में पीएम मोदी के इस संबोधन को बेहत खास माना जा रहा है।