टेंपो ई-रिक्शा चालकों को सरकार से राहत की उम्मीद।

कानपुर:-


लॉक डाउन के बाद समस्त देश के अंदर मजदूरों और वह लोग जो प्रतिदिन दिहाड़ी प्राप्त करते थे, उन पर बड़ा झटका लगा है। देश भर में यह देखा जा रहा है कि बड़े महानगरों से अपने गांव अपने राज्यों को करोड़ों मजदूर वापस आ रहे हैं।



मजदूरों के साथ-साथ एक बड़ा तबका ऐसा भी है जिसमें टेंपो ऑटो और ई-रिक्शा चालक भी है जो रोज की दिहाड़ी पर अपना जीवन व्यतीत करते हैं। टेंपो चालकों का यह कहना है की सरकार ने मजदूरों के लिए राहत राशि का ऐलान किया है परंतु टेंपो ई रिक्शा चालकों को किसी तरह की कोई राहत सरकार द्वारा नहीं दी जा रही है।


उत्तर प्रदेश के टेंपो टैक्सी महासंघ ने कानपुर नगर के डीएम डॉ ब्रह्मदेव राम तिवारी से वार्ता करी और आग्रह किया की सरकार ने टेंपो चालकों के लिए कोई भी राहत कार्य नहीं किया है। जिसके चलते 50,000 टेंपो व ई रिक्शा चालक बेरोजगार हो गए हैं। सरकार ने कई क्षेत्रों में ढील देते हुए कार्य की अनुमति दी है। परंतु टेंपो चालकों और ईरिक्शा चालकों को कार्य की अनुमति प्राप्त नहीं हो पाई है।


इस पर डीएम कानपुर ने जानकारी प्रदान करी की यह सिर्फ 1 जिले की बात नहीं है इसकी अनुमति उत्तर प्रदेश के सीएम द्वारा दी जाएगी आशा है 3 से 4 दिन में टेंपो चालकों के लिए राहत की खबर आएगी। प्रतिनिधि मंडल मैं राम‌ गोपाल पुरी सहित महासंघ के विधि सलाहकार भी शामिल रहे।