फंड देने के नाम पर झांसा! कारोबारियों को लाखों का चूना?

कानपुर


देश के अंदर समय के साथ साथ नटवरलाल भी बदलते नजर आ रहे हैं अलग-अलग राज्यों में बैठे अपने ठाट बाट दिखाकर लोगों को बेवकूफ बनाकर पैसे ठगने नई बात नहीं। 




ऐसी ही एक घटना उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर के निवासी प्रद्युम्न तिवारी और आरिफ के साथ घटित हुई। यह दोनों ही व्यक्ति कारोबारी है अपनी फैक्ट्री को चलाने के लिए इन्होंने अपने एक जानकर से फंड की व्यवस्था करने के लिए कहा।


जिस पर इनके जानकार आरिफ भाई ने इनकी मुलाकात डॉक्टर वेंकटेश मूर्ति जो कि बेंगलुरु का निवासी बताया जा रहा है उससे कराई जिसने कानपुर के इन व्यापारियों को 25 करोड़ का लोन देने की हामी भरी। 




इसी दौरान डॉक्टर वेंकटेश मूर्ति और आरिफ ने दोनों व्यापारियों से लाखों की उगाही भी कर डाली जो अलग-अलग काम और नाम पर लिए गए। नियमित समय पर फंड न मिलने पर कारोबारी को शक हुआ जिसके बाद कारोबारी ने फंड की मांग करी पर इस दौरान तकरीबन 20 से 25 लख रुपए कारोबारी अपने गवा चुके थे।


ठग ने 25 करोड़ का चेक कारोबारियों को दे दिया परंतु वह बाउंस हो गया। अब फंड देने वाले ठग व्यापारियों से संपर्क करना नहीं चाहते। उत्तर प्रदेश कानपुर शहर के कारोबारी शासन प्रशासन से गुहार लगा रहे है की उनके साथ फंड के नाम पर ठगी की जाने वाले लोगों को पुलिस हिरासत में लेकर उचित कार्यवाही करें जिससे यह लोग किसी और को अपना शिकार ना बना पाए। ‌

अब देखना होगा कि पुलिस कितने समय में आरोपियों को पड़ती है और कार्रवाई करती है।


Featured Post

भ्रष्ट लेखपाल का पर्दाफाश! एफ.आई.आर के हुए आदेश।

भ्रष्टाचार में लिफ्ट लेखपाल का हो गया पर्दाफाश डीएम के आदेश पर लेखपाल पर मामला दर्ज थाने को दिए गए आदेश कानूनी कार्यवाही कर गिरफ्तार करें ले...