ऑन लाइन ठगी

आज के इस दौर में जैसे जैसे टेक्नोलॉजी बड़ रही है उसी रफ्तार से ऑन लाइन ठगी भी बढ़ती जा रही है। देश के हर राज्य में चाहे वो बड़ा हो या छोटा कोई भी आज के समय में इससे बचा नहीं है। ये ठगी करने वाले बदमाश पहले लोगो को लालच देते हैं और फिर कुछ लॉटरी आदि चिजो का लालच देके उनके बैंक खाते से रकम चंपत कर जाते हैं। एक चीज़ देखने को और मिली है कि ये ऑनलाइन ठगी करने वाले ज़दा तर थोड़े पिछड़े लोगो कोनापना शिकार करते हैं या उन लोगो को जो जियादा ऑनलाइन या टेक्नोलॉजी से नहीं जुड़े हैं।
जो लोग थोड़े से एक्टिव हैं वो इनसे बच जाते हैं। ऑनलाइन ठगी से बचे 3 लोगो से बात करी तो पता चला कि जब इंसान ठगी से बच जाता है तो वोथोड़ा मतलबी हो जाता है वो एं नहीं सोचता कि हम तो बच गए लेकिन यही काम अब वो दूसरी के साथ करेगा। सैकड़ों लोग पुलिस में शिकायत नहीं देते जिसके चलते ऐसे लोग पुलिस कि पकड़ में नहीं आ पाते। क्योंकि टेक्नोलॉजी पुलिस के पास भी है तो पुलिस अगर सक्रिय होकर काम करे तो ठगो को पकड़ा जा सकता है। यहां लोगो को जागरूक होना पड़ेगा। और जो भी वारदात होती है उसकी लिखित में अपने एरिया के पुलिस स्टेशन में शिकायत करनी पड़ेगी जिससे पुलिस अपना काम कर सके , पुलिस के आधिकारी से बात करके पता चला जनता पुलिस कंप्लेंट ही नहीं करवाती है जिसके चलते भी जो इस प्रकार के अपराध करते हैं वो फायदा उठा ले जाते हैं।