विदेश से लौटे अफसर को रहना था क्वारनटीन में, केरल छोड़ चले गए कानपुर

*कानपुर ब्रेकिंग न्यूज़*
 ➖➖➖➖➖➖➖



  *आशू यादव की खास रिपोर्ट SUB  ब्यूरो चीफ कानपुर*✒️
  ➖➖➖➖➖➖➖✒️
 *विदेश से लौटे अफसर को रहना था क्वारनटीन में, केरल छोड़ चले गए कानपुर*


✒️
      
  *अधिकारी को क्वारनटीन में रहने का था निर्देशकेरल छोड़ कर रवाना हो गए कानपुर*
*कोरोना वायरस को रोकने के लिए जरूरी है सभी एहतियातन* *कदम उठाना. क्योंकि इसे होने से पहले ही रोका जा सकता है. बाद में सिर्फ सुरक्षित बच जाने की दुआएं ही की जा सकती हैं. हालांकि सबसे बड़ी मुश्किल है कि जिन अधिकारियों पर लोगों के कर्तव्यनिर्धारण सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी है वो ही अपना काम ठीक से नहीं कर पा रहे हैं.*


*केरल के कोल्लम में पोस्टेड सब कलेक्टर अनुपम मिश्रा, 19 मार्च को विदेश यात्रा से वापस आए थे, ऐसे में उन्हें अगले 14 दिनों तक अपने घर में ही क्वारनटीन में रहने का निर्देश जारी किया गया था. लेकिन वह शहर छोड़कर उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित अपने घर पहुंच गए. कोल्लम के जिलाधिकारी ने इस बारे में राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपी है.*


*केरल के मत्स्यपालन मंत्री ने सब कलेक्टर अनुपम मिश्रा के इस कृत्य को पूरी तरह से गैर जिम्मेदार बताया है. उन्होंने बताया कि संबंधित अधिकारी को 19 मार्च से अगले 14 दिनों तक होम क्वारनटीन में रहने को कहा गया था. लेकिन उन्होंने इस निर्देश का पालन नहीं किया और वो कोल्लम छोड़कर कानपुर के लिए रवाना हो गए. यह क्वारनटीन नियमों का उल्लंघन है.*✒️✒️✒️✒️✒️
    *बता दें, जो भी नागरिक विदेश यात्रा से वापस आ रहे हैं और अगर उनका टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव भी आता है तो उन्हें अगले 14 दिनों तक क्वारनटीन में रहने को कहा जा रहा है. क्योंकि कई बार इस वायरस के लक्षण दिखने में इतना समय लग जाता है.*


Featured Post

क्या डीडीए 1991 में संसद के बनाए हुए 'वर्शिप एक्ट' को नहीं मानता है? 'मस्जिद टूटने की चीखें नहीं सुनाई देती : इमरान प्रतापगढ़ी

नई दिल्ली दिल्ली के महरौली इलाके में एक मस्जिद पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने बीती 30 जनवरी को गैरकानूनी ढांचा बताते हुए बुलडोजर चला द...