सी.एम योगी: स्टेट हेलीकॉप्टर खड़े हैं खाली! टेस्टिंग किट्स में देरी बर्दाश्त नहीं' की जाएगी।

➖➖➖➖➖➖➖
*आशू यादव की खास रिपोर्ट SUB Bureau Chief Kanpur*
➖➖➖➖➖➖➖➖
     *भ्रष्टाचार और जुर्म के खिलाफ हर पल आपके साथ*
➖➖➖➖➖➖➖➖


 


*पीपीई किट्स में देरी बर्दाश्त नहीं', सीएम योगी बोले- स्टेट हेलिकॉप्टर खाली खड़े हैं, उन्हें भेजकर मंगाओ*


*यूपी में स्वास्थ्यकर्मियों के लिए पीपीई किट्स उपलब्ध न होने की शिकायतों के बीच सीएम योगी (UP CM Yogi Adityanath) ने टीम-11 (Team 11) के साथ बैठक में कहा कि अगर सड़क मार्ग से पीपीई किट्स (PPE Kits) लाने में देरी हो रही है तो खाली खड़े स्टेट हेलिकॉप्टर्स का इस्तेमाल करके उन्हें जल्दी मंगाइए।*



*लखनऊ-एक ओर जहां कोरोना के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए देश को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है। इस खतरनाक महामारी के प्रकोप से लोगों को बचाने के लिए 'कर्मवीर' पूरी शिद्दत से जुटे हुए हैं। इस सबके बीच लगातार उत्तर प्रदेश में *पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट) किट्स की कमी को लेकर लगातार खबरें सामने आ रही हैं। सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीपीई किट्स की उपलब्धता को लेकर सख्त रुख *अख्तियार कर लिया है।*
*सूत्रों के मुताबिक, कोरोना से हर स्तर पर लड़ाई के लिए यूपी सरकार द्वारा बनाई गई 'टीम-11' के साथ बैठक में सीएम योगी ने पीपीई किट्स की कमी को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। बैठक* *में सामने आया कि ट्रक इत्यादि से पीपीई किट्स विभिन्न स्थानों पर पहुंचाने में समय लग रहा है। इसपर सीएम योगी ने सख्त लहजे में कहा, 'मेरे प्रदेश की जनता की सेवा में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को मैं किसी भी हालत में खतरे में नहीं डाल सकता। अगर सड़क मार्ग से पीपीई किट्स को विभिन्न स्थानों पर पहुंचाने में समय लग रहा है तो लॉकडाउन में खाली पड़े स्टेट हेलिकॉप्टर्स का इस्तेमाल करिए और जल्द से जल्द सभी स्वास्थ्यकर्मियों को पीपीई किट उपलब्ध कराइए।*


*लापरवाही बर्दाश्त नहीं: सीएम योगी*
*टीम-11 से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, सीएम योगी ने टीम-11 के साथ बैठक में साफ कहा कि* *स्वास्थ्यकर्मियों के साथ किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आपको बता दें कि जब देश में कोरोना वायरस ने अपने पांव पसारने शुरू ही किए थे, तभी सीएम योगी ने राज्य के 11 वरिष्ठतम अधिकारियों के नेतृत्व में 11 टीमें बनाई थीं। ये टीमें लगातार कोरोना से लड़ाई में जुटी हैं। इन टीमों को अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई हैं। सीएम योगी हर रोज इन टीमों के प्रमुखों के साथ मीटिंग करते हैं और अपडेट लेते हैं।*