सरकारी अस्पताल में नहीं होता है शुरू, निर्धारित समय पर काम

 



 


ओपीडी का टाइम नहीं है फिक्स। सरकारी टाइम के अनुसार पर्चा बनने का समय सुबह 7:00 बजे से 12:00 बजे तक और ओपीडी का समय 8:00 बजे से 2:00 बजे तक जो कि आप बोर्ड में भी देख सकते हैं।



सुश्रुत ट्रॉमा सेंटर जोकि सेंट्रल दिल्ली में स्थित है वहां का नजारा कुछ और ही देखने को मिला। जहां पर गए मरीज से बात करने पर मरीज ने बताया की ओपीडी का समय तो 8:00 बजे से शुरू होता है परंतु डॉक्टर 9:00 या 9:00 बजे के बाद ही मरीजों को देखना शुरू करते हैं। और इस बात की जानकारी मरीज को नहीं दी गई और ना ही कोई स्पष्ट जवाब हॉस्पिटल के किसी कर्मचारी ने दिया।



वहीं वार्ड के पास स्वच्छता के नाम पर भी स्क्रैप भारी मात्रा में देखने को मिला जहां पर कोई स्क्राइब रूम नहीं बल्कि वार्ड के पास का नजारा है जहां अस्पताल में अपने सारा कूड़ा कबाड़ इकट्ठा करा हुआ है। इस तस्वीर को देखकर आपको स्पष्ट हो जाएगा की क्या हालत है नई दिल्ली के सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट में स्थित सुश्रुत ट्रॉमा सेंटर की।



गांधी जी का चश्मा भी स्वच्छता को देखता होगा तो शर्म करता होगा कि सरकारी संस्थानों में और अस्पतालों में जहां पर स्वच्छता ज्यादा होनी चाहिए वहां पर इस तरह का स्क्रैप देखकर चश्मे में भी क्या ही देखा होगा


Featured Post

विवाद के चलते पति ने पत्नी पर फावड़े से किया हमला! पत्नी की गई जान।

  उत्तरपूर्वी दिल्ली कई बार गृह क्लेश किसी की मौत का कारण भी बन जाते हैं। तमाम बार हमने कई ऐसी खबरें भी सुनी देखी और पढ़ी है। की क्रोध में आ...