अब कोरोना से निपटने के लिए सामने आए डॉक्टर कफील

अब कोरोना से निपटने के लिए सामने आए डॉक्टर कफील, PM मोदी से कहा- बाहर निकालिए, देश की सेवा करना है



26/03/2020  M RIZWAN 



 


कांग्रेस विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी के बाद अब नागरिकता कानून का विरोध करने के मामले में जेल में बंद डॉक्टर कफील खान कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सामने आए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपील की है कि संकट के समय में उन्हें लोगों की मदद करने की अनुमति दी जाए।


कफील खान ने पत्र में लिखा, सरकार द्वारा कोरोना से निपटने के लिए संतोषजनक कदम उठाए गए हैं। लेकिन इसके बावजूद इस बीमारी के तेजी से फैलने की आशंका है। जिससे 30-40 लाख लोग प्रभावित हो सकते हैं। इसलिए हमें इससे निपटने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी करनी होगी। चिकित्सा क्षेत्र में 20 साल के अनुभव से मुझे लगता है कि मैं इस समय इस बीमारी को रोकने में कुछ मदद कर सकता हूं।


पीएम से अपील करते हुए डॉक्टर कफील ने लिखा, उत्तर प्रदेश सरकार ने बिना किसी सबूत के जबरन रसुका लगाकर मुझे जेल में डाला है। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि मुझे जेल से बाहर निकाला जाए। ताकि मैं इस संकट के समय में देश और देश के लोगों की मदद कर सकूं। मैं आपका आभारी रहूंगा।


बता दें कि डॉक्टर कफील खान को उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने अलीगढ़ में दिए गए भड़काऊ भाषण के आरोप में 29 जनवरी को मुंबई से गिरफ्तार किया था। जिसके बाद से वह मथुरा की जेल में बंद हैं। उनपर आरोप है कि उन्होंने पिछले साल 12 दिसंबर को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भड़काऊ भाषण दिया था।


अपने पत्र में डॉक्टर कफील ने उन उपायों का भी सुझाव दिया, जिससे इस बीमारी को तेजी से फैलने से रोका जा सकता है। उन्होंने पत्र में लिखा, हमें प्रत्येक जिला स्तर पर कैंपों की संख्या को बढ़ाना चाहिये। प्रत्येक जिलें में 100 नए आईसीयू बनाये जाए। प्रत्येक जिले में ज्यादा से ज्यादा आइसोलेशन वार्ड बनाये जाए। ट्रेनिंग दी जाए और अफवाहों पर अंकुश लगाया जाये।