कानपुर शहर  के फेथफुलगंज में कालाबाजारी अपने चरम पर

कानपुर शहर  के फेथफुलगंज में कालाबाजारी अपने चरम पर


फेथफुलगंज एरिया मे दुकानदारों की कालाबाजारी  चर्म पर 10 का समान 20  मे बेच रहे खुले आम और बोल रहे है लेना है लो नही तो जाओ जब शानू नाम के शक्स ने  फेथफुलगंज बुनकर स्कूल के नीचे कन्हैयालाल की दुकान पर दाल चना और जरूरत का समान  का दाम पूछा तो उसने हर समान का दाम बढ़ाकर बताया और उसके समान की खरीददारी का पर्चा माँगने पर नहीं दिखाया और अपने मनमाने दाम मे बोला लेना हो लो नहीं जाओ 


 


ये दुकानदारों की मनमानी कब तक चलती रहेगी कोई कार्यवाही होगी या नही जनता क्या ऐसे लुटते मरते रहेगी इसकी जिम्मेदारी किसकी है  क्या इन लोगों पर कोई कार्रवाई होगी या सब ऐसे ही चलता रहेगा


Featured Post

क्या डीडीए 1991 में संसद के बनाए हुए 'वर्शिप एक्ट' को नहीं मानता है? 'मस्जिद टूटने की चीखें नहीं सुनाई देती : इमरान प्रतापगढ़ी

नई दिल्ली दिल्ली के महरौली इलाके में एक मस्जिद पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने बीती 30 जनवरी को गैरकानूनी ढांचा बताते हुए बुलडोजर चला द...