बीजेपी से जुड़ा पूर्व सरपंच गिरफ़्तार, आतंकियों को मुहैया कराता था हथियार

बीजेपी से जुड़ा पूर्व सरपंच गिरफ़्तार, आतंकियों को मुहैया कराता था हथियार


01/05/2020 M RIZWAN 



आतंकियों को हथियार मुहैया कराने के आरोप में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बीजेपी से जुड़े पूर्व सरपंच तारिक़ अहमद मीर को गिरफ़्तार किया है। बताया जा रहा है कि मीर आतंकियों की मदद करने के आरोप में निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह का सहयोगी है।



दविंदर सिंह से पूछताछ में ही मीर का नाम सामने आया था। जिसके बाद उसे शोपियां स्थित उसके निवास से गिरफ़्तार किया गया। गिरफ्तारी के बाद मीर को 7 दिन की रिमांड पर जम्मू ले जाया गया है। यहां एनआईए के अधिकारियों की एक विशेष टीम उससे पूछताछ कर उसके और डीएसपी के संबंधों की जांच करेगी।


एनआईए के मुताबिक़, मीर निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह के संपर्क में था। हालांकि मीर ने इस बात से इनकार किया है कि वो दविंदर सिंह को जानता है। लेकिन उसने इस बात को स्वीकार किया है कि वो दविंदर सिंह के साथ पकड़े गए हिज्बुल आतंकवादी कमांडर नावेद बाबू को जानता था।


बता दें कि 11 जनवरी को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने डीएसपी दविंदर सिंह को उस समय श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर गिरफ्तार किया था जब वह अपने साथ आतंकी नावेद बाबू, रफी अहमद और इरफान अहमद को जम्मू ले जा रहा था। दविंदर सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर एंटी हाइजैकिंग विंग में था। उसकी गिरफ्तारी के बाद एनआईए ने कई जगहों पर दबिश देकर गिरफ्तारियां की थीं।


इससे पहले 13 फरवरी को इसी केस में क्रॉस-एलओसी ट्रेडर तनवीर अहमद वानी को भी गिरफ्तार किया गया था। तनवीर वानी का नाम तब सामने आया जब उसकी ओर से नावेद बाबू को पैसे देने का मामले का पता चला था। अब तारिक़ अहमद मीर की गिरफ्तारी के बाद आने वाले दिनों में इस मामले में और भी गिरफ्तारियों हो सकती हैं।