क्या यातायात पुलिसकर्मी आपकी जेब पर भारी है?

कानपुर


तमाम बार समाज ने पाया है सड़कों पर मौजूद यातायात पुलिसकर्मी यातायात संचालन के साथ-साथ जनता से पैसों की उगाही भी कर लेते हैं। 





इसी तरह की शिकायत उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर के एंटी करप्शन इंडिया के कार्यालय में आई जिसके बाद एंटी करप्शन इंडिया टीम ने शहर के अलग-अलग जगह पर औचित निरीक्षण कर सच्चाई का पता लगाया।





धरातल की स्थिति पर पाया गया, कई जगह पर पुलिसकर्मी नदारत थे। वही रिश्वत लेते हुए कोई पुलिसकर्मी नहीं पकड़ा गया। ‌पुलिसकर्मियों का कहना था कि हम अपने इस ड्यूटी पॉइंट पर कोई भी पैसा नहीं लेते हैं सीधा चालान ही पहुंचता है।


यह और बात है कि कानपुर शहर में मेट्रो के काम से तमाम जगहों पर जाम लगना शुरू हो गया है। कानपुर ट्रैफिक पुलिस जाम से निपटने में असमर्थ दिखाई दे रही है।‌ जाम की समस्या पर बात करने से कानपुर पुलिस अधिकारी भी कतराते नजर आए।


Featured Post

क्या डीडीए 1991 में संसद के बनाए हुए 'वर्शिप एक्ट' को नहीं मानता है? 'मस्जिद टूटने की चीखें नहीं सुनाई देती : इमरान प्रतापगढ़ी

नई दिल्ली दिल्ली के महरौली इलाके में एक मस्जिद पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने बीती 30 जनवरी को गैरकानूनी ढांचा बताते हुए बुलडोजर चला द...