मंदी की चपेट में आईटीसी

मंदी की चपेट में आईटीसी
जिस तरह मार्केट देखने को मिल रही है सब जगह मंदी मंदी है कई करोड़ लोगों को बेरोजगार होना पड़ा, कई सौ छोटी-बड़ी कंपनियों को बंद होना पड़ा, पहले अिविएशन फिर ऑटो मोबाइल फिर टेक्सटाइल और एफएमजी में मंददी देखने को मिल रही हैं
इस सब के चलते कई बड़ी कंपनियों के नाम भी हैं, जिनके कर्मचारी बेरोजगार हुए जिसमें टाटा, मारुति, एल. एन. टी,  बजाज और तमाम कंपनी छोटी बड़ी, जिसमें बड़ा नाम अब आई.टी.सी का भी शामिल हो रहा है।
आपको बता दें आईटीसी का एक डिवीजन एलआरबीडी (रिटेल) जो क्लोथिंग डिवीजन है, इसके अंतर्गत दो ब्रांड आते हैं जॉन प्लेयर्स और विल्स लाइफ़स्टाइल। कुछ महीने पहले ही जॉन प्लेयर्स को रिलायंस ने खरीदा है। और अब विल्स लाइफस्टाइल बंद हो रहा है। जिसके चलते अब रिटेल क्लोथिंग से आईटीसी का नाम हट जाएगा। सूत्रों से पता चला है कि अगले साल मार्च तक ये बंद हो जाएगा। मोदी की मंदी का असर देखने को मिल रहा है। वही एक अच्छी बात यह है कि आईटीसी अपने इम्प्लॉइज को अपने दूसरे डिवीजन में रखने का आश्वासन दे रही है।


Featured Post

विवाद के चलते पति ने पत्नी पर फावड़े से किया हमला! पत्नी की गई जान।

  उत्तरपूर्वी दिल्ली कई बार गृह क्लेश किसी की मौत का कारण भी बन जाते हैं। तमाम बार हमने कई ऐसी खबरें भी सुनी देखी और पढ़ी है। की क्रोध में आ...