भू माफियाओं के साथ प्रशासनिक अधिकारी! तालाब की जमीन को बेचा।

भू माफिया ने तालाब की जमीन को प्रशासनिक अधिकारियों से साठ गांठ कर बेचा! पोल खोलने पर जमींदार ने पैसे मांगे वापस तो मिली जान से मारने की धमकी।


कानपुर


उत्तर प्रदेश में बुलडोजर बाबा की सरकार है तमाम मीडिया में यह सुर्खिया रहती हैं कि उत्तर प्रदेश से भू माफियाओं का सूपड़ा साफ हो गया है तमाम भू माफियाओं के घरों पर बुलडोजर चल रहा है पर कुछ घटनाएं दर्पण दिखती हैं। 





उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में पुलिस आयुक्त के पास आए एक पीड़ित में जानकारी देते हुए बताया की महाराजपुर में भू माफिया नौशाद लोरी ने तालाब की जमीन को लेखपाल से साठगांठ कर बेचा है जिसकी जानकारी उन्हें कुछ दिन बाद हो गई थी। 


परंतु जब उन्होंने नौशाद लोरी से पैसे मांगे तो पहले समय मांगा लेकिन बाद में जान से मारने की धमकी दी गई। पीड़ित ने जानकारी देते हुए बताया नौशाद लोरी यह सारा काम अपनी नौकरानी शिवाती के नाम पर करता है। जो एससी समुदाय से आती है। 

पीड़ित द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार नौशाद लोरी को अन्य आरोप में उन्नाव पुलिस ने जेल भेज दिया है।





वही पीड़ित ने बताया कि हमारी शिकायत में विवेचक ने ढील दी और धाराओं को कमजोर किया। यहां तक की पुलिस को उसका जन्मदिन मनाते हुए भी देखा गया जिस पर पीड़ित का कहना है जब आरोपी के साथ पुलिस जन्मदिन मनाएगी तो न्याय क्या ही होगा! 

इसके बाद वीडियो फोटो वायरल होने पर कचौड़ी थाने को निष्कासित भी किया गया था।


घटना की जानकारी कानपुर पुलिस आयुक्त को दी गई, आयुक्त ने आश्वासन देते हुए कहा, पुलिस इसपर कार्यवाही करेगी जबकि पीड़ित का कहना है कि नौशाद लोरी का पुलिस एवं अधिकारियों से अच्छा गठ जोड़ है जिस कारण उस पर कार्यवाही नहीं होगी वह तमाम अपराध कर चुका है यहां तक की अरशद कुरैशी का ढाबा था नौशाद की दबंगी के चलते ढाबा भी बंद करना पड़ा।

Featured Post

क्या डीडीए 1991 में संसद के बनाए हुए 'वर्शिप एक्ट' को नहीं मानता है? 'मस्जिद टूटने की चीखें नहीं सुनाई देती : इमरान प्रतापगढ़ी

नई दिल्ली दिल्ली के महरौली इलाके में एक मस्जिद पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने बीती 30 जनवरी को गैरकानूनी ढांचा बताते हुए बुलडोजर चला द...